Syndicate Bank
banner
 

भारतीय जीवन बीमा निगम के साथ बैंकबीमा (जीवन) का गठजोड़

 

सिंडिकेट बैंक ने अपने शाखा नेटवर्क के माध्यम से जीवन बीमा उत्पादों को बेचने हेतु कॉरपोरेट एजेंट के रूप में, दिनांक 27.06.2013 को भारतीय जीवन बीमा निगम के साथ समझौता ज्ञापन किया है।

यह गठबंधन हमारे महत्त्वपूर्ण ग्राहकों को समग्र बीमा का विकल्प उपलब्ध कराएगा। भारत में बीमा उद्योग में अग्रणी, भारतीय जीवन बीमा निगम, समाज के हर वर्गों के लिए विभिन्न प्रकार की पॉलिसी उपलब्ध कराता है।

सिंडिकेट बैंक, भारतीय जीवन बीमा निगम का एक कॉरपोरेट एजेंट है। बैंक के ग्राहकों द्वारा बीमा उत्पादों में सहभागिता पूर्ण रूप से स्वैच्छिक आधार पर होता है। बीमा आग्रह की विषयवस्तु है।

जीवन बीमा पर ग्राहक शिक्षा:

मानव जीवन से जुड़ी घटनाओं जैसे, मृत्यु, विकलांगता, दुर्घटना, सेवानिवृति इत्यादि के लिए जीवन बीमा वित्तीय सुरक्षा प्रदान करता है। नैसर्गिक और दुर्घटना कारणों से मानव जीवन में मृत्यु और विकलांगता का जोखिम बना रहता है। यदि किसी व्यक्ति की मृत्यु होती है या कोई व्यक्ति स्थायी अथवा अस्थायी रूप से विकलांग हो जाता है तो परिवार की आय बंद हो जाती है। यद्द्पि, मानव जीवन अमूल्य है फिर भी, भविष्य में घटती आय को ध्यान में रखते हुए एक वित्तीय राशि निर्धारित की जा सकती है। अतः, जीवन बीमा नीति द्वारा ‘लाभ’ के रूप में निर्धारित राशि (हानि के मामले में प्रदत्त गारंटीकृत राशि) प्रदान की जाती है। पॉलिसी की अवधि के दौरान बीमाकृत व्यक्ति की मृत्यु की स्थिति में जीवन बीमा उत्पाद, एक निश्चित राशि प्रदान करते हैं।

आप जीवन बीमा क्यों खरीदें?

जीवन बीमा की आवश्यकता – यह सुनिश्चित करने के लिए कि यदि परिवार के किसी कमाऊ सदस्य के साथ कोई अनहोनी दुर्घटना होने की स्थिति में, पारिवार सदस्यों को तत्काल वित्तीय सहायता प्राप्त हो और आश्रितों को किसी प्रकार की कठिनाई का सामना न करना पड़े।

  • भविष्य के लिए एक बचत योजना ताकि सेवानिवृति के बाद भी एक निर्धारित आय का श्रोत बना रहे
  • किसी गंभीर बीमारी या दुर्घटना के कारण आपकी आमदनी में कमी होने पर अतिरिक्त आय को सुनिश्चित करना
  • अन्य वित्तीय आकस्मिकताओं और जीवन शैली की आवश्यकताओं की पूर्ति हेतु

जीवन बीमा की आवश्यकता किसे है?

मुख्यतः, जीवन बीमा की आवश्यकता उस व्यक्ति को होती है जो परिवार में आयकर्ता है तथा जिसे परिवार को संभालना है। परिवार के प्रति किए गए उनके योगदान के आर्थिक दृष्टिकोण को ध्यान में रखते हुए गृहणियों की भी जीवन बीमा रक्षा आवश्यक है। भविष्य की आय के जोखिम को ध्यान में रखते हुए बच्चों के लिए भी जीवन बीमा पर विचार किया जा सकता है।

जीवन बीमा की राशि कितनी होनी चाहिए?

आपके लिए अपेक्षित जीवन बीमा की राशि विभिन्न कारकों पर आधारित होती है जैसे, कितने लोग आप पर आश्रित हैं, क्या आपकी कोई देयता/कर्ज/बंधक है, आप अपने परिवार को किस तरह की जीवनशैली देना चाहते हैं, भविष्य में आपके बच्चों के शिक्षण हेतु कितनी राशि की आवश्यकता है, आपकी निवेश आवश्यकता कितनी है, आपकी खर्च उठाने की क्षमता कितनी है, इत्यादि।

डिस्क्लेमर: इस वेबसाइट की सामग्री पूरी तरह से सूचनाओं के प्रचार-प्रसार के लिए है। यह किसी भी प्रकार के कारोबार की सिफ़ारिश नहीं करता है।

2015 सिंडिकेट बैंक. सर्वाधिकार सुरक्षित     यह वेबसाइट सबसे अच्छे रूप से 1280 x 800 में देखा जाता है