Syndicate Bank
banner
 

सिंडिकेट पूंजी बाजार सेवाएँ

 

एएसबीए: अवरुद्ध राशि द्वारा समर्थित आवेदन

सेबी के दिशानिर्देशों के अनुसार, सार्वजनिक निर्गम और अधिकार निर्गम में निवेश के लिए सिंडिकेट बैंक ने अवरुद्ध राशि द्वारा समर्थित आवेदन (सिंड एएसबीए) नामक एक नया झंझटरहित समाधान की शुरुआत की है। वर्तमान प्रणाली में आईपीओ के आवेदन के लिए चेक जारी करना पड़ता है जहां आपकी राशि, आवंटन/बिड को अंतिम रूप देने तक आपके खाते से डेबिट कर ली जाती है, इसके विपरीत, एएसबीए के तहत आपकी निधि, आवंटन की प्रक्रिया पूरी होने तक आपके खाते में ब्लॉक रहेगी और तबतक के लिए ब्याज अर्जित करती रहेगी। आवंटन सफल होने के पश्चात ही राशि खाते से डेबिट होगा। यह सुविधा म्यूचुअल फंड के नए निधि प्रस्ताव (एनएफ़ओ) तथा अधिकार निर्गम के लिए भी लागू है।

एएसबीए के माध्यम से निवेशक आवेदन दे सकता है, बशर्ते

  • Img_Bullet वह अनुमोदित श्रेणी का हो और सेबी के दिशानिर्देशों के अनुसार आईपीओ/एफ़पीओ में आवेदन देने के लिए पात्र हो।
  • Img_Bullet उसका सिंडिकेट बैंक में (बचत बैंक/चालू खाता) कासा खाता हो।
  • Img_Bullet उसका किसी भी डीपी में डीमैट खाता हो तथा स्थायी खाता संख्या (पैन) उपलब्ध हो।
  • Img_Bullet आवेदन राशि के लिए उसके खाते में पर्याप्त शेषराशि उपलब्ध हो।
  • Img_Bullet एक आवेदन में तीन बिड तक के विकल्प होते हैं।
  • Img_Bullet बोली लगाने के दौरान निवेशक अपनी बोली को आशोधित, परिशोधित या वापस ले सकता है।
  • Img_Bullet जनादेश के आधार पर 5 अलग-अलग आवेदनों के लिए बोली लगाने हेतु एकल बैंक खाता का इस्तेमाल किया जा सकता है।

सभी शाखाओं में एएसबीए की सुविधा उपलब्ध है।

एएसबीए आईपीओ के आवेदन फॉर्म सामान्य आईपीओ आवेदन फॉर्म से भिन्न होते हैं तथा ये नामित शाखाओं में उपलब्ध होते हैं या इन्हें निम्नलिखित वेबसाइट से डाउनलोड भी किया जा सकता है:

सिंड ई-ट्रेड (1 में 3 ऑनलाइन शेयर ट्रेडिंग खाता)

प्रतिभूतियों में ट्रेड या निवेश करने वाले सिंडिकेट बैंक के ग्राहकों को सिंड ई-ट्रेड - ऑनलाइन शेयर ट्रेडिंग (1 में 3 खाता) की सुविधा प्रदान करने हेतु सिंडिकेट बैंक ने भारत के एक प्रमुख शेयर ब्रोकिंग कंपनी मेसर्स असीत सी मेहता इंवेस्टमेंट इंटरमीडियेट्स लि. (एसीएमआईआईएल) के साथ कार्यनीतिक गठजोड़ व्यवस्था किया है।

बैंक के वेबसाइट पर सिंड ई-ट्रेड लिंक www.syndicatebank.in (Home Page)-services-other Services-Demat Service (Synd Demat)-Online trading Synd e-Trade का प्रयोग करते हुए निवासी भारतीय ऑनलाइन आधार पर एनएसई/बीएसई के माध्यम से इक्विटी शेयरों को खरीद/बेच सकते हैं।

सिंड ई-ट्रेड सुविधा के लिए बैंक के ग्राहकों के पास निम्नलिखित तीन खातों का होना जरूरी है:

  1. Img_Bullet सिंडिकेट बैंक की किसी भी सीबीएस शाखा में चालू या बचत खाता।
  2. Img_Bullet बैंक की सभी शाखाओं में डिपॉजिटरी सेवाएं उपलब्ध हैं।
  3. Img_Bullet ब्रोकर साझेदार अर्थात मेसर्स असित सी मेहता इंवेस्टमेंट इंटरमीडियेट्स लि. (एसीएमआईआईएल) के साथ ऑनलाइन ट्रेडिंग खाता।

व्यवस्था की शर्तों के अनुसार, सिंडिकेट बैंक में स्थित चालू या बचत खाता, डीमैट खाता को एकीकृत करके एसीएमआईआईएल के ट्रेडिंग खाता को 1 में 3 की सुविधा प्रदान की जाती है।

सिंड डीमैट (निक्षेपागार सहभागी सेवाएँ)

हमारे बैंक ने 16.01.2008 से सिंड डीमैट (निक्षेपागार सहभागी सेवाएँ) को प्रारम्भ किया है।

हमारे बैंक में निम्नलिखित निक्षेपागार सेवाएँ उपलब्ध हैं:

  • Img_Bullet व्यक्तियों/गैर-व्यक्तियों के लिए डीमैट खाता खोलना
  • Img_Bullet प्रतिभूतियों को इलेक्ट्रोनिक रूप में रखना।
  • Img_Bullet बेकागजीकरण
  • Img_Bullet पुनः कागजीकरण
  • Img_Bullet सुपुर्दगी पर व्यापार का समझौता – ऑन मार्केट, ऑफ मार्केट, अंतर-निक्षेपागार
  • Img_Bulletप्रतिभूतियों की गिरवी/गिरवीमुक्त डीमैट खातों को अवरुद्ध/अनावरूद्ध

बैंक की सभी शाखाओं में निक्षेपागार सेवाएँ उपलब्ध हैं।

राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली – एनपीएस

जनसंख्या के सभी वर्गों को बुढ़ापे में आय की सुरक्षा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से, भारत सरकार ने असंगठित क्षेत्र के कामगारों सहित भारत के सभी नागरिकों के लिए स्वैच्छिक आधार पर राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (एनपीएस) का शुभारंभ किया है।

एनपीएस के तहत पहले ही सुरक्षा प्राप्त सरकारी कर्मचारियों के अलावा दिनांक 01.05.2009 से एनपीएस अब भारत के सभी नागरिकों के लिए उपलब्ध है।

पेंशन निधि नियामक और विकास प्राधिकरण (पीएफ़आरडीए) द्वारा सिंडिकेट बैंक को पॉइंट ऑफ प्रेजेंस और अग्रीगेटर के रूप में पंजीकृत किया गया है।

 पॉइंट ऑफ प्रेजेंस (पीओपी) मॉडल

  • Img_Bullet टियर-1 खाता: इस गैर-आहरणयोग्य खाते में सेवानिवृति हेतु बचतों का अंशदान।
  • Img_Bullet टियर-II खाता: यह एक स्वैच्छिक बचत सुविधा है। ग्राहक जब भी चाहें, इस खाते से आहरण के लिए स्वतंत्र हैं।

एनपीएस के तहत अनिवार्य रूप से कवर किए गए सरकारी कर्मचारियों सहित भारत के सभी नागरिकों के लिए टियर-I खाते की सुविधा को 1 मई 2009 से और टियर-II खाते की सुविधा को 1 दिसंबर 2009 से उपलब्ध करायी गई है।

अटल पेंशन योजना

वर्ष 2015-16 के बजट में सरकार ने सभी भारतीयों के लिए बीमा व पेंशन क्षेत्र में सार्वभौमिक सामाजिक सुरक्षा योजना को शुरू करने की घोषणा की थी। इसीलिए, सरकार ने अटल पेंशन योजना (एपीवाई) की शुरुआत की जो इसके अंशदान और अवधि के आधार पर एक निर्धारित पेंशन प्रदान करती है। एपीवाई, पेंशन निधि नियामक और विकास प्राधिकरण (पीएफ़आरडीए) द्वारा संचालित राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (एनपीएस) में शामिल होने वाले सभी नागरिकों पर ध्यान केन्द्रित करता है। एपीवाई के तहत, ग्राहक के एपीवाई में शामिल होने की उम्र के आधार पर उनके द्वारा किए गए अंशदान के अनुसार, 60 साल की उम्र पूरी होने के पश्चात, ग्राहक को `1000, `2000, `3000, `4000, `5000 प्रतिमाह की निश्चित न्यूनतम पेंशन प्राप्त होगी। एपीवाई में शामिल होने की न्यूनतम आयु 18 वर्ष तथा अधिकतम आयु 40 वर्ष है। इसीलिए, एपीवाई के तहत किसी भी ग्राहक द्वारा अंशदान की न्यूनतम अवधि 20 वर्ष या उससे अधिक होगी। तय की गई न्यूनतम पेंशन के लाभ की गारंटी सरकार की होगी।

Syndicate Bank

डिस्क्लेमर: इस वेबसाइट की सामग्री पूरी तरह से सूचनाओं के प्रचार-प्रसार के लिए है। यह किसी भी प्रकार के कारोबार की सिफ़ारिश नहीं करता है।

2015 सिंडिकेट बैंक. सर्वाधिकार सुरक्षित     यह वेबसाइट सबसे अच्छे रूप से 1280 x 800 में देखा जाता है